janganmannews

विशेष संप्रदाय के परिवार को अपने परिवार के व्यक्ति का लाश लेकर घूमना पड़ा अंतिम संस्कार के लिए

विशेष संप्रदाय के परिवार को अपने परिवार के व्यक्ति का लाश लेकर घूमना पड़ा अंतिम संस्कार के लिए

नगरी 28/6/2022

अपने समाज धर्म को छोड़ दूसरे समाज धर्म में जाने के चलते आज अपने ही गांव में विरोध का करना पड़ा सामना

ना ही ईसाई कब्रिस्तान में मिली अंतिम संस्कार के लिए जगह पादरी ने किया अपना मोबाइल बंद

ग्राम पंचायत छिपली निवासी के घर एक व्यक्ति की मृत्यु हो जाने पर उसके अंतिम संस्कार के समय पूरे ग्राम वासियों का विरोध का सामना करना पड़ा ग्राम वासियों का कहना था कि हिंदू रीति रिवाज से ही अंतिम संस्कार किया जाना चाहिए मगर मृतक के परिवार वाले तैयार नहीं हुए जिसके चलते ग्राम पंचायत छिपली अंतिम संस्कार नहीं करने दिया गया जिसके बाद मृतक के परिवार से दिनेश ने नगरी में आकर शासन प्रशासन से अंतिम संस्कार कराने का निवेदन किया जिसके चलते नगरी के वन विभाग के डिपो से लगे श्मशान घाट में अंतिम संस्कार प्रशासन की मौजूदगी में में किया जा रहा था जिसका विरोध हिंदू संगठन के लोग बड़ी संख्या में उपस्थित होकर किए वही हिंदू संगठन के लोगों का कहना है कि छिपली निवासी है तो छिपली में करें अंतिम संस्कार या फिर अपने धर्म के अनुसार अपने स्थान पर जाकर करें अंतिम संस्कार इन को लेकर काफी विरोध होता रहा वहीं कुछ लोग हिंदू संगठन के लोगों का वीडियो विशेष संप्रदाय लोगों के द्वारा बना रहे थे जिसके चलते काफी माहौल खराब हो रहा था मगर पुलिस प्रशासन ने सभी को संभालते हुए अंतिम संस्कार करने के लिए लगी रही और हिंदू संगठन के लोगों को समझाते रहे वहीं पुलिस प्रशासन हिंदू संगठन के विरोध को देखते हुए फिर स्थान बदलना पड़ा और डिपो के अंदर अंतिम संस्कार करने का फैसला लिया गया मगर वहां भी विरोध के चलते पुलिस प्रशासन को फोर्स बुलाना पड़ा मगर हिंदू संगठन के लोग उसके बाद भी डटे रहे उनका कहना था कि यहां अंतिम संस्कार किया जाता है तो नगरी वाशी भी आकर इसी स्थान पर अंतिम संस्कार करेंगे स्थिति को देखते वन विभाग के अधिकारी ने अंतिम संस्कार करने के लिए मना किया वही धमतरी के ईसाई मशीनरी से चर्चा करने पर उनके कब्रगाह में अंतिम संस्कार करवाने से मना कर दिया यह बहुत बड़ी विडंबना इस समय इस परिवार के लिए खड़ी हो गई वहीं लोगों का कहना था कि अगर वापस हिंदू धर्म ग्रहण कर लेता है तो पूरे विधि विधान से अंतिम संस्कार में और सभी कामों में पूरा गांव सहयोग करेगा फिर आखिर में ग्राम पंचायत घटुला मैं जहां चर्च स्थित है वहां अंतिम संस्कार करने का प्रशासन द्वारा निर्णय लिया गया तब जाकर सभी हिंदू संगठन के लोग शांत हुए

वही हिंदू संगठन के लोगों का कहना था कि शासन प्रशासन के दबाव में आकर नगरी प्रशासन में जबरदस्ती वन विभाग के डिपो में अंतिम संस्कार कराने का फैसला लिया जो गलत जिसका पूरा जोर विरोध किया गया

इस समय मौजूद थे नगरी एसडीओपी मयंक राणा सिंह के साथ नगरी प्रभारी नेताम और दुगली प्रभारी मैचका प्रभारी नायाब तहसीलदार

50% LikesVS
50% Dislikes

Leave a Comment

What does "money" mean to you?
  • Add your answer

Recent News