janganmannews

40 घंटे की मेहनत के बाद निकाली गई लड़कियों की लाश इस घटना का जवाबदेही किसकी 

Share on facebook
Share on twitter
Share on whatsapp
Share on email
Share on print

शुक्रवार को सोढुर डैम मे नाव से घूमने गए थे 7 लोग, आ गए थे बाहर दो लड़कियां डूब गई थी डैम में

टाइगर रिजर्व में आता है सोढुर डैम इस हादसे का जिम्मेदार कौन जबकि वहां मछली मारने में पूरी तरह से बेन है तो डैम में इतने सारे नाव क्या कर रहे थे क्या अधिकारियों के संरक्षण में मछली पकड़ने का कार्य चल रहा था की मछली चोरी करने वालों को चोरी करने की छूट दे दी गई थी

क्या डैम के अधिकारी के साथ टाइगर रिजर्व के अधिकारियों की इन सब चीजों के लिए जवाबदारी नहीं बनती

नगरी
डेम में डूबे युवती की लाश को ढूंढने के लिए पुलिस को 40 घंटे का रेस्क्यू ऑपरेशन चलाना पड़ा। जिसके बाद रविवार सुबह दूसरे युवती की लाश मिली। पहले की लाश शनिवार को मिल गई थी दोनों को पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया गया है।

मिली जानकारी के गरियाबंद के धवलपुर से शादी कार्यक्रम में शामिल होने कुछ लोग बेलरबाहरा आए थे।जिनमें से तीन लड़के और 4 लड़कियां सोंढूर डैम घूमने चले गए।नाव मे सवार होकर डैम का सैर कर वापस किनारे की लौट रहे थे। तभी नाव में पानी भरता देख दो लड़के नाव से छलांग लगा दिए।जिससे नाव पलट गया।इस घटना में 5 लोग सुरक्षित बाहर निकल गए। दो लोग मोनिका नेताम और बिंदिया नागेश पानी में डूब गए। जिनकी तलाश की जा रही थी।एसडीआरएफ की टीम को बुलाया गया। शनिवार को एक शव बरामद कर लिया गया। दूसरा शव (मोनिका नेताम)रविवार की सुबह मिला पंचनामा के बाद पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया गया।

 

एसडीओपी मयंक रणसिंह ने बताया कि कुछ लोग शादी समारोह में शामिल होने बेलरबहरा आए हुए थे। सभी नाव लेकर डैम में गए हुए थे। तभी नाव पलट गई जिसमें से दो युवतियां दिन में डूब गई थी। शुक्रवार से रेस्क्यू ऑपरेशन चलाया गया। रायपुर से भी एसडीआरएफ की टीम बुलाई गई थी।जिसमें से एक युवती बिंदिया नागेश का शव शनिवार को बरामद कर लिया गया। दूसरा शो रविवार सुबह लगभग 10:00 बजे बरामद किया गया दोनों का नगरी में पोस्टमार्टम के बाद शव परिजनों को सौंप दिया जाएगा। इस पूरे घटनाक्रम में लगभग 40 घंटे का रेस्क्यू ऑपरेशन चलाया गया। जिसमें एसडीआरएफ की टीम के साथ थाना का स्टाफ मौजूद रहा।

वही क्षेत्रवासियों के मन में एक प्रश्न उठ रहा है जब टाइगर रिजर्व होने के चलते वहां मछली पकड़ना पूरी तरह से बैन है तो इतने सारे नाम क्या कर रहे थे और अगर वह मछली पकड़ी जा रही थी तो मछली पकड़ने वालों के ऊपर में आज तक कार्रवाई क्यों नहीं की गई क्या अधिकारियों के साथ मिलीभगत में मछली पकड़ने का काम चल रहा था

50% LikesVS
50% Dislikes

Leave a Comment

What does "money" mean to you?
  • Add your answer

Recent News

Share on whatsapp