janganmannews

पुरानी पेंशन बहाली से नगरी ब्लाक के कर्मचारियों के चेहरों में आयी खुशी,फटाखे फोड़ मनाया जश्न।*

Share on facebook
Share on twitter
Share on whatsapp
Share on email
Share on print

*पुरानी पेंशन बहाली से कर्मचारियों के चेहरों में आयी खुशी,फटाखे फोड़ मनाया जश्न।*

मुख्यमंत्री एवं विधायक डॉ.लक्ष्मी ध्रुव का माना आभार

छत्तीसगढ़ सरकार के चौथे आम बजट में मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने जैसे ही कर्मचारियों के लिए पुरानी पेंशन बहाली का घोषणा किया तो कर्मचारियों के चेहरे में खुशियों की लहर दौड़ गयी। NOPRUF नगरी ने मुख्यमंत्री भूपेश बघेल के इस ऐतिहासिक घोषणा की खुशी में नगरी के हृदय स्थल बजरंग चौक नगरी में एक दूसरे को मिठाई खिलाकर एवं पटाखे फोड़ कर बधाई दिए।
छत्तीसगढ़ टीचर्स एसोसिएशन नगरी के अध्यक्ष शैलेंद्र कौशल,टीकमचंद सिन्हा,तोमल साहू,कैलाश सोन ने कहा कि 8 मार्च 2022 को ही NOPRUF छत्तीसगढ़ द्वारा ट्विटर अभियान चलाया गया जिसमें श्री राहुल गांधी जी व मुख्यमंत्री श्री भूपेश बघेल जी को टेग कर ट्विटर अभियान किया गया जिसमें विधायकों के समर्थन पत्र को पोस्ट कर राजस्थान की तरह बजट में पुरानी पेंशन बहाली की घोषणा करने की मांग की गई थी, तथा दीप जलाकर NPS कर्मचारियों ने की OPS बहाली के लिए प्रार्थना की थी। तथा विद्यायको का समर्थन पत्र लेने व मुख्यमंत्री जी को अनुशंसा पत्र लिखवाने में NOPRUF की रणनीतिक योजना काम आई।
प्रदेश संयोजक संजय शर्मा के द्वारा शासन तक जानकारी पहुचाई गयी कि पुरानी पेंशन बहाल करने से NPS कर्मचारियों का NSDL में जमा राज्यांश राशि करीब 90 अरब छत्तीसगढ़ राज्य सरकार को प्राप्त होगा, तथा 14 प्रतिशत राज्यांश राशि जमा नही करने से प्रति वर्ष करीब 20 अरब छत्तीसगढ़ राज्य शासन का बचत होगा, उपरोक्त राशि का छत्तीसगढ़ सरकार विकास कार्यों में उपयोग कर सकेगी, इसके संबंध में मुख्यमंत्री के प्रमुख सचिव श्री सुब्रत साहू जी, एवं अधिकारियों को आंकड़ों के साथ जानकारी देते हुए चर्चा किया था।
छत्तीसगढ़ कांग्रेस के जनघोषणा पत्र में कहा गया है कि सीपीएफ पर विचार कर, 2004 के पूर्व जो पेंशन योजना थी उसे लागू करने की कार्यवाही की जाएगी, घोषणा होने से जनघोषणा पत्र का वादा पूरा हुआ।
राजस्थान के मुख्यमंत्री श्री अशोक गहलोत जी द्वारा की गई घोषणा भी सहायक के रूप काम आई।शासन के संज्ञान में लगातार NOPRUF द्वारा लाया जाता रहा है कि नवीन अंशदायी पेंशन योजना (NPS) बाजार आधारित योजना है, इस योजना से सेवानिवृत होने वाले NPS कर्मचारियों को अल्प पेंशन का भुगतान हो रहा है, जिससे बुढ़ापे में उनका गुजर बसर अत्यंत पीड़ादायक होता जा रहा है।

ज्ञात हो कि छत्तीसगढ़ में पुरानी पेंशन बहाली की लड़ाई हेतु शिक्षक, लिपिक, पंचायत सचिव, पटवारी, राजस्व अधिकारी, प्राध्यापक व महाविद्यालयीन अधिकारी, स्वस्थ्य कर्मचारी, सीएसईबी, मंत्रालयीन कर्मचारी, न्यायालयीन कर्मचारी,संचालनालयीन कर्मचारी तथा सभी विभाग के कर्मचारी NOPRUF में एकजुट होकर सरकार व शासन का ध्यान आकृष्ट करा रहे थे। सभी एनपीएस कर्मचारियों ने छत्तीसगढ़ सरकार के इस ऐतिहासिक फैसले का स्वागत किया है। इस अवसर पर तीरथराज अटल,श्रीमती बी.यदु, गोपाल चंद्र नाग,श्रीमती सतरूपा नाग,लोकेश्वर सुरेशा, जसपाल खनूजा धनंजय साहू,खम्मन गंजीर,पुष्पलता साहू,देवप्रकाश ताम्रकार,पवन साहू,देवेंद्र साहू,टिकेश साहू,ओमप्रकाश देव,दिनेश ताम्रकार,रोशन सारवां,राजेश तिवारी,प्रदीप साहू,सिधेश्वर साहू,किशोर नवरंगे,भूषण नाग,जोहन नेताम,नीरज सोन,पदुम साहू,लोमश साहू,भागवत साहू,शरीफ बेग मिर्जा,गजानंद सोन,भुनेश्वर साहू,कमलेश चंद्राकर,सावित्री साहू,गीता सोन,इन्दिरा बनपेला,जलवती नागेश,पीयूष नाग इत्यादि मौजूद थे।

100% LikesVS
0% Dislikes

Leave a Comment

What does "money" mean to you?
  • Add your answer

Recent News

Share on whatsapp