janganmannews

नगरी ब्लाक के स्कूल में मनाया गया शिक्षक दिवस

नगरी ब्लाक के स्कूल में मनाया गया शिक्षक दिवस

शासकीय प्रायोगिक शाला नगरी अंग्रेजी माध्यम में शाला में दानदाताओं का सम्मान कर मनाया गया शिक्षक दिवस

शासकीय प्रायोगिक शाला नगरी अंग्रेजी माध्यम में शाला में दान देने वाले पालक एवं गणमान्य नागरिकों का शिक्षक दिवस के अवसर पर शाला परिवार की ओर से पेन डायरी भेंट कर सम्मान किया गया।शिक्षक दिवस सह सम्मान कार्यक्रम में शाला के बच्चों द्वारा सांस्कृतिक गतिविधियां एकल नृत्य,समूह नृत्य,भाषण,गीत इत्यादि की प्रस्तुति की गई।इस अवसर पर संस्था के शिक्षक कैलाश सोन ने शिक्षक दिवस क्यों और किनकी याद में मनाया जाता है इसके बारे में बताया गया।शिक्षक अनूप ध्रुव ने बच्चों के मांग पर गीत गाकर सबका मनोरंजन किये।संस्था प्रभारी श्रीमती निरुपमा साहू ने दानदाताओं का आभार व्यक्त करते हुए कहा कि विद्यालय में आयोजित कार्यक्रम में माइक सेट की कमी हो रही थी जिसे विद्यालय के पालकों ने अपने सहयोग से स्कूल को माइक सेट भेंट किये।इस अवसर पर पालकगण धर्मेंद्र साहू,लाकेश साहू,साकेत साहू,खेमराज साहू,डॉ.संजय साहू,श्रीमती डोमेश्वरी साहू,गायत्री साहू,मधु पाटिल,किरण साहू,कविता साहू,शारदा साहू,रमशीला साहू,कमलेश्वर कंचन,दुर्योधन साहू,मौमिता सील,शिक्षक श्रीमती निरुपमा साहू,कैलाश सोन,अनूप ध्रुव,टिकेश्वर साहू,प्रीति साहू,ममता साहू,ज्योति मरकाम,गीता निर्मलकर इत्यादि मौजूद थे।

हरदीभाठा स्कूल में शिक्षक दिवस किया गया आयोजित

माध्यमिक शाला हरदीभाठा में शिक्षक दिवस समारोह बड़े ही धूमधाम से मनाया गया ।मुख्य अतिथि सेवानिवृत्त प्रधान पाठक डी0के0 साहू सर जी थे। कार्यक्रम का शुभारंभ ज्ञान की आराध्य देवी मां सरस्वती के तेल चित्रों पर दीप प्रज्ज्वलित कर पूजा अर्चना कर कार्यक्रम का शुभारंभ किया गया। अतिथि के स्वागत सम्मान पश्चात ।समन्वयक लोमश प्रसाद साहू, प्रभारी प्रधान पाठक नंदलाल कश्यप ,शिक्षिका अंजना बैस ,प्रतिभा देहारी ,ममता सिंहसार ,निर्मला सोम ,राजेंद्र देवांगन, शिक्षकों द्वारा शिक्षक दिवस के महत्ता पर प्रकाश डाला गया। जीवन जितना सजता है, मां बाप के प्यार से ,उतना ही महकता है गुरु के आशीर्वाद से ।
हमारे भारत देश में हर साल 5 सितंबर को शिक्षक दिवस मनाया जाता है ।इस दिन भारत के द्वितीय राष्ट्रपति डॉक्टर सर्वपल्ली राधाकृष्णन का जन्मदिन होता है ।जो एक महान विद्वान और आदर्श शिक्षक थे ।दुनिया के विभिन्न देशों में अलग-अलग दिन शिक्षक दिवस मनाया जाता है। भारत में पहली बार 1962 में शिक्षक दिवस मनाया गया। शिक्षक दिवस के दिन सरकार द्वारा कुछ महान शिक्षकों को सम्मानित किया जाता है। शाला नायक दीपेश कुमार, मिथिलेश कुमार, पंकज ,मुस्कान ,नंदनी, प्रियंका, माया आदि विद्यार्थीयो ने कहा कि इस दिन शिक्षक हमें ज्ञान देते हैं, और अच्छा इंसान बनाने में मदद करते हैं ।समाज और देश के विकास में शिक्षकों का महत्वपूर्ण योगदान होता है ।हमें अपने शिक्षकों का सदैव आदर सम्मान करना चाहिए ।सेवानिवृत्त प्रधान पाठक डीके साहू सर जी को संकुल केंद्र हरदीभाठा की ओर से श्री फल व गिफ्ट देकर सम्मानित किया गया। आदरणीय श्री साहू जी ने अपने उद्बोधन में उपस्थित मंचासीन शिक्षकों व विद्यार्थियों को अपना आशीर्वचन दिए ।उक्त अवसर पर विद्यालय प्रबंध समिति के अध्यक्ष व सदस्यगण उपस्थित थे। कार्यक्रम का संचालन समन्वयक लोमश प्रसाद साहू ने व आभार प्रदर्शन शिक्षक नंदलाल कश्यप ने किया।

शासकीय प्राथमिक एवं माध्यमिक शाला टेंगना में मनाया गया शिक्षक

शिक्षक दिवस के अवसर पर बाल कैबिनेट, इको क्लब, युवा मितान क्लब ग्राम पंचायत गोरेगांव तथा सरपंच ने सभी शिक्षकों को पेन डायरी व श्रीफल प्रदान कर सम्मानित किया । इस अवसर पर मुख्य अतिथि मालती ध्रुव ने सभी शिक्षकों व बच्चों का उत्साह वर्धन पूर्वक अध्यापन कार्य कराने व अध्यापन करने हेतु प्रेरित किए । शिक्षक संतोष कुमार बांधव ने बच्चों को केक व चॉकलेट बांटकर अपनी खुशी को व्यक्त किए । शिक्षक मनोज कुमार गंजीर ने डां.सर्वपल्ली राधाकृष्णन, महात्मा ज्योतिबा फुले एवं प्रथम शिक्षिका सावित्रीबाई फुले के जीवन पर प्रकाश डालें। इस अवसर पर शिक्षिका पार्वती ध्रुव, अनीता कश्यप, गोपाल चंद्र नाग, जाकेश साहू, त्रिलोक नेताम, कांति ध्रुव, हिरेंद्र, अनिल कश्यप, योगेश मंडावी सचिन ध्रुव, सूरज एवं सदस्यगण, व छात्र छात्राएं उपस्थित रहे ।

50% LikesVS
50% Dislikes

Leave a Comment

What does "money" mean to you?
  • Add your answer

Recent News