janganmannews

*मोटरसाइकिल से सड़क, पगडंडी और जंगल का सफर तय कर कलेक्टर पहुंचे नगरी के दूरस्थ गांवों में नक्सली क्षेत्र में

Share on facebook
Share on twitter
Share on whatsapp
Share on email
Share on print

शासकीय योजनाओं का ज़मीनी स्तर पर क्रियान्वयन का किया औचक निरीक्षण*

ग्रामीणों में दिखा उत्साह और हैरानी का मिश्रण


जब कोई कलेक्टर एकदम साधारण व्यक्ति जैसे मोटरसाइकिल में निकले तो हैरानी और उत्सुकता के साथ उनका जमीन से जुड़े रहने की झलक और इच्छाशक्ति दिखती है। उससे बड़ी बात कि यह सफर कोई आसान नहीं बल्कि सड़कों, पगडंडियों और जंगलों के बीच से होकर वनांचल के अंदरूनी गांवों में हो तो उनकी मैदानी स्तर पर शासकीय योजनाओं की हकीकत जानने की इच्छा जाहिर करती है। आज ऐसा ही वाकया नगरी के वनांचल क्षेत्र में हुआ, जब कलेक्टर श्री पी एस एल्मा सुबह दस बजे से मोटर साइकिल में निकल पड़े। यह मिलों लंबा सफर सिर्फ यह जानने की एक कोशिश थी कि वास्तव में योजनाओं का लाभ ज़मीनी स्तर पर उनके वास्तविक हितग्राहियों को मिल रहा है या नहीं!!! इस दौरान कलेक्टर जिस भी गांव पहुंचे ग्रामीण काफी हैरान हुए और उनसे मिलकर गांव की स्थिति के संबंध में चर्चा भी की।
बहरहाल कलेक्टर श्री एल्मा ने बिरना सिल्ली, सांकरा, अरसीकन्हार, खालगढ़, बोइरगांव, संदबहार, मांदागिरी, उजरा वन, गादूलबहार, खल्लारी, ठोठागुरिया,आमाबहार, जोरातराई, करही,गहनासियार, मासुलखोई, रिसगांव इत्यादि का मोटरसाइकिल से सफर किया। इस पूरे औचक निरीक्षण में कलेक्टर ने ग्रामीण क्षेत्रों की मूलभूत सुविधाओं जैसे सड़क, पुल पुलिया, बिजली, पानी, स्वास्थ्य,शिक्षा, मनरेगा के तहत परिसंपत्ति निर्माण और मजदूरों को मिले मजदूरी का समय पर भुगतान, पीडीएस की गांव में स्थिति का जायज़ा लिया। जंगलों, पगडंडियों, सड़क से तय इस सफर में कलेक्टर श्री एल्मा गांववालों से भी रुक रुक कर मिलते रहे और क्षेत्र की समस्यायों की जानकारी मांगते रहे।

*जब कलेक्टर रिसगांव के साप्ताहिक बाजार में पहुंचे साधारण व्यक्ति जैसे*

रिसगांव में आज साप्ताहिक बाजार लगा था। इसका भी कलेक्टर ने घूमघूम कर जायज़ा लिया और सब्जी भाजी , मनिहारी , कंद आदि का दर जाना। बाजार में कमारों द्वारा बनाए गए बांस के सूपा और टोकरी की जानकारी लेकर उससे कमारो को होने वाले आमदानी के बारे में भी पूछा। उन्होंने साप्ताहिक बाजार से कंद खरीदे और उसके स्वाद का आनंद भी लिया। बाजार में भ्रमण के साथ ही उन्होंने हॉस्टल ,स्वास्थ्य केंद्र ,हायरसेकेन्डरी स्कूल का निरिक्षण किया और ग्रामीणो द्वारा करका मार्ग मे पूल की मांग पर जगह का भी निरीक्षण किया, जहां गांव वालों ने रिसगाव मुख्यमार्ग में सडक ,पूल और गांव में आगनबाडी पेयजल के लिये नलजल कनेक्शन तथा करका मे नये स्कूल भवन की मांग की। कलेक्टर ने आश्वस्त किया कि यथासंभव उनकी समस्याओं का हल किया जाएगा।

*बाजार में नहीं पहचान पाये कलेक्टर को*
आम नागरिक की तरह कलेक्टर श्री एल्मा आज रिसगांव के सप्ताहिक बाजार में घूम रहे थे। मुनासिब है ग्रामीण उन्हें पहचान नहीं पाए। इस दौरान कलेक्टर श्री एल्मा ने भी मजाक के लहजे से एक स्थानीय सब्जी व्यापारी पूछे *कौन हूं मै?* तो वो बोला देखे देखे जईसे लगथे । इस पर कलेक्टर बस मुस्कुरा दिए।

बच्चों के साथ क्रिकेट में आजमाया हाथ मासूलखोई स्थित स्कूल ग्राउंड में

वहीं मासुलखोई ग्राम के स्कूल ग्राउंड में क्रिकेट खेलते देख बच्चों के साथ खुद भी क्रिकेट में अपने हाथ आजमाए। इसके पीछे यह मंशा रही कि चाहे कितना भी उच्च पद पर चले जाएं जमीन से जुड़े रहें और खेल को हमेशा हार जीत के बजाए खेल भावना से खेलें।

100% LikesVS
0% Dislikes

Leave a Comment

What does "money" mean to you?
  • Add your answer

Recent News

Share on whatsapp